पुलिसकर्मियों की मांगों के लिए गृहमंत्री को ज्ञापन - KhabarBat™

Breaking

KhabarBat™

kavyashilp™ Digital Media •Reg• MH20D0050703

    आता बनवा आपली स्वस्तात वेबसाईट   

डिजिटल मीडियाच्या माध्यमातून

आपला व्यवसाय, संस्था, उद्योगाची माहिती जगभर पोहचावा. 

          kavyashilp Digital Media -   Call- 7264982465      

पुलिसकर्मियों की मांगों के लिए गृहमंत्री को ज्ञापन

राष्ट्रवादी कांग्रेस (मीडिया सेल) ने अधिवेशन शीतसत्र मे पुलिसकर्मियों की मांगों के लिए गृहमंत्री को ज्ञापन सौंपा



नागपूर/ प्रतिनिधी 
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (मीडिया सेल) जिला अध्यक्ष नागपुर शहर अमित दुबे के नेतृत्व में शीतसत्र अधिवेशन में आए गृहमंत्री श्री एकनाथ शिंदे के नाम पुलिस कर्मियों के लिए ज्ञापन सौपा गया जिला अध्यक्ष अमित दुबे ने गृहमंत्री के नाम निवेदन देते हुए बताया कि पुलिसकर्मी निरंतर कईयों घंटे जनता की सेवा में तत्पर रहती है जो अपना 'सदरशनाय खलनिग्रहणाय" इस प्रचार का संपूर्ण पालन करती है चाहे त्यौहार बंदोबस्त हो या अधिवेशन ड्यूटी इनके ड्यूटी का कोई निश्चित समय कभी नहीं रहता कई बार तो इन्हें छुट्टी के दिन भी ड्यूटी पर हाजिर होना पड़ता है घंटों निरंतर खड़े रहने से पुलिसकर्मियों को शुगर बीपी पाइल्स इत्यादि बीमारियों का सामना करना पड़ता है कार्यभार ज्यादा होने से मानसिक तनाव होने से कईयों पुलिसकर्मी आत्महत्या जैसा कठोर कदम भी उठा लेते हैं मगर उसके बाद उनके परिवार की कोई सुध नहीं लेता निरंतर ड्यूटी करते रहने से अपने परिवार को भी समय दे पाना उनके लिए नामुमकिन हो जाता है राष्ट्रवादी कांग्रेस  पार्टी (मीडिया सेल) आपको पुलिस कर्मचारियों के कुछ दुख व उनके हक की मांगे बताना चाहती है जो इस प्रकार है।





1) पुलिस कर्मचारियों का पगार महसूल विभाग के बराबर होना चाहिए।
2) पुलिसकर्मियों के डीजी लोन का ब्याज दर कम करें कइयों पुलिसकर्मी की अर्जी पड़ी रहती है डीजी लोन भी खास कर्मियों को चेहरा देखकर दिया जाता है सभी को नहीं।
3) पुलिस कर्मचारियों का वेतन उनके ड्यूटी के हिसाब से 2 गुना होना चाहिए। 8 घंटे से ज्यादा ड्यूटी लिए जाए तो और ओवर टाइम का पैसा भी भी दिया जाना चाहिए।
4) पुलिसकर्मीयो को जब तपास के लिए आरोपी को राज्य मे या  बाहर लाना ले जाना पड़ता है तो उनहे ट्रेन में रिजर्वेशन मिलना चाहिए कई बार पुलिसकर्मी रिजर्वेशन ना मिलने से आरोपियों को लेकर ट्रेन के बाथरूम के पास खड़े नजर आते हैं।
5) पुलिसकर्मियों को मेडिकल बिल बहुत देर से मिलता है।
6) पुलिसकर्मियों को पहले जो वर्दी का खर्च 5167 रुपए मिलता था वो अब नहीं मिलता वो फिर से मिलना चाहिए।
7) 2011 में समांतर आरक्षण में निकाले गए पुलिसकर्मियों को 2016 में लिया गया फिर से नई नियुक्ति देके इस बीच 2011 से 2016 तक का पेमेंट उन्हें नहीं दिया गया जो की उन्हें मिलना चाहिए।
8) 2005 के बाद के पुलिस कर्मियों को पेंशन सुविधा नहीं है जबकि पेंशन योजना दिए जाना पुलिस कर्मियों का हक है उनके बुढ़ापे का सहारा है।
9) पुलिसकर्मियों की (सीएल) 12 है जबकि 18 होना चाहिए।
10) पुलिसकर्मियों की (ईल) 45 है जबकि 60 होनी चाहिए इसके विपरीत आर्मी वालों की ईल 100 होती है। इत्यादि प्रमुख मांगे पुलिसकर्मियों के लिए ज्ञापन के द्वारा बताई गई।



इस अवसर पर राष्ट्रवादी वक्ता सेल अध्यक्ष मनीष जैस्वाल राष्ट्रवादी मीडिया सेल अध्यक्ष दक्षिण पश्चिम उमेश पाटणकर अध्यक्ष पश्चिम नागपुर निखिल कोचे अध्यक्ष मध्य नागपुर मनोज पौनिकर वरिष्ठ उपाध्यक्ष उत्तर नागपुर हनी खेत्रपाल शहर पदाधिकारी विजय विश्वकर्मा महेंद्र मिश्रा सुनील लव्हत्रे अक्षय वराड़कर उपस्थित थे।